BREAKING NEWS

मथुरा : पराली ही नहीं, कोई भी फसल अवशेष जलाने पर होगी कार्रवाही || मथुरा : महापंचायत में रालोद, सपा के बीच पनपे विवाद का पटाक्षेप || मथुरा : महाराजा अग्रसेन जयंती के सामूहिक कार्यकम नहीं, पर उत्साह भरपूर

नई दिल्ली। दूरदर्शन (Doordarshan) पर 'तेजस्विनी' से लेकर 'बड़ी चर्चा' समेत कई लोकप्रिय कार्यक्रमों को होस्ट कर चुकी मशहूर एंकर नीलम शर्मा (Neelum Sharma) ने शनिवार को दुनिया से अलविदा कह दिया। बताया जा रहा है कि नीलम कैंसर से पीड़ित थी। नीलम शर्मा का नोएडा के एक अस्पताल में भर्ती थीं। जहां उन्होंने आज अंतिम सांस ली। 

Read More

पत्रकार समाज का दर्पण है जैसा होता है: उमपन्यु मथुरा। पत्रकारिता देश का चैथा नहीं पहला स्तम्भ्ंा है जब तीन स्तम्भ निराश करते है तो यहीं से न्याय मिलता है लेकिन देश प्रदेश की सरकार पत्रकारों के विषय में सोच नहीं है पत्रकारों के लिए एक बजट की स्थापना होनी चाहिए उक्त विचार ब्रज प्रेस क्लब के तत्वाधान में राया कस्बे में आयोजित संगोष्ठी में वक्ताओं ने व्यक्त किए और सम्मान समारोह के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।  सादाबाद रोड पर स्थित कुन्दन मैरिज होम में पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष्य में पत्रकार संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसका शुभारम्भ मुख्य अतिथि उपजा के प्रदेश उपाध्यक्ष व ब्रज प्रेस क्लब अध्यक्ष कमलकांत उमपन्यु एडवोकेट, भाजपा नेता कृष्णकुमार शर्मा और राजेश चैधरी, पूर्व पंचायत अध्यक्ष सुभाष बाबू अग्रवाल, राकेश शर्मा ने सयुक्त रूप् से मॉ सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलित कर माल्यार्पण कर किया। संगोष्ठी में कमलकांत उपमन्यु ने कहा कि पत्रकार समाज का दर्पण है जैसा होता है वह वैसा दिखाते है लेकिन वर्तमान में दौर में कुछ कथित लोग इस से जुड कर बदनाम करने का कार्य कर रहे है लेकिन वास्तविक पत्रकारांे की छवि पर कोई अंतर नहीं है। भारतीय जनता पार्टी के कृष्णकुमार उर्फ मुन्ना भैया ने कहा कि पत्रकार चैथा नहीं पहला स्तम्ंभ है जब हमें तीन स्तम्भ्ंाांे से निराशा होती है तो समाज का दर्पण कहा जाने वाले पत्रकार ही उस लड़ाई को लड़ते है और न्याय के साथ जीत दिलाते है आज हमें अपने क्षेत्र के पत्रकारों पर गर्व है पत्रकारों का जीवन पूरा संघर्ष मय होता है और दिन रात मेहनत के साथ कार्य करते है। भारतीय जनता युवा मोर्चा कार्यक्रम संयोजक राजेश चैधरी ने कहा कि पत्रकारों की पहचान आपातकाल से है पत्रकारों को जीवन संघर्ष से शुरू होता है और जीवन भर संघर्ष करते है लेकिन उनकों सरकार से कुछ नहीं मिलता है इस के लिए उनकी वेदना क्या होती है यह श्याद नहीं जानते है। पत्रकारों की सहायता राशि के लिए पत्रकार बजट भी बनना चाहिए। जिससे पत्रकारों में और निर्भीता आयेगी। नगर पंचायत राया के पूर्व चेयरमैन सुभाष बाबू अग्रवाल ने कहा कि पत्रकार देश विदेश में नाम रोशन कर रहे सीमा पर जवानों के साथ उनकों दिखाते है उनका हौसला बढ़ाते है राया नगर के पत्रकार भी देश प्रदेश मंे अपना नाम रोशन कर रहे है। वहीं नगर पंचायत राया के पूर्व चेयरमैन राकेश शर्मा ने कहा कि पीडितों को न्याय दिलाने वाले ही पत्रकार होते है हमें उन पर गर्व होना चाहिए। इस अवसर पर सतीश चन्द्र रहीस,अरविन्द शर्मा,सुरेश पहलवान,शिवचरन सिंह काका, प्रतुल गंगल,योगेश वार्ष्णेय डा दशरथ शर्मा आदि ने पत्रकारिता पर अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर अरविन्द अग्रवाल,राजकुमार अग्रवाल, आलोक अग्रवाल, अमित गोयल,सरबन अहमद,जिलानी शाह,महेश चैधरी,हुशियार सिंह, कैलाश चन्द्र शर्मा,सुनील चैधरी, मनोज नागर,डा शिवचरनलाल,अंकित अग्रवाल,हामिद फारूकी, अमरनाथ अग्रवाल,सुनील व्यास ,आदि प्रमुख लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मुकेश अग्रवाल ने किया। कार्यक्रम की सफलता पर लक्ष्मीकांत शर्मा, सौनेन्द्र व्यास,मोहित गौड़,राजकुमार उपमन्यु,रवि सोनी,मनोज वार्ष्णेय, अभिनय उपाध्याय, मनोज शर्मा आदि ने आभार व्यक्त किया।   

Read More

रंग लाई ब्रज प्रेस क्लब व उप्र मान्यता संवाद समिति की पहल मथुरा। इलैक्ट्रनिक चैनल के पत्रकार हरीश माहौर के आकस्मिक निधन पर ब्रज प्रेस क्लब व उप्र मान्यता संवाद समिति द्वारा संयुक्त रूप से की गई मुआवजे की पहल रंग लाई है। दिवंगत पत्रकार की पत्नी को मुख्यमंत्री पीडि़त सहायता कोष से 20 लाख रूपए की आर्थिक सहायता का ड्राफ्ट दिया गया है।  बतादें कि ब्रज प्रेस क्लब के अध्यक्ष व उपजा प्रदेश उपाध्यक्ष कमलकांत उपमन्यु एडवोकेट के नेतृत्व में पत्रकारों ने जिलाधिकारी नितिन बंसल से मिलकर मृतक के बच्चों व परिजनों को आर्थिक सहायता और आवास प्रदान किये जाने की मांग की थी। उपजा प्रदेश उपाध्यक्ष की पहल पर डीएम नितिन बंसल ने मात्र दो घंट के भीतर तत्काल संस्तुति कर सहायता आवेदन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को फैक्स द्वारा भेज दिया था। इसी पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री ने दिवंगत पत्रकार हरीश माहौर के परिजनों को 20 लाख रूपए मुआवजा देने की घोषणा की थी। उप्र शासन के अनु सचिव (लेखा) गोकुला नंद जोशी ने मथुरा जिलाधिकारी को लिखे पत्र में कहा कि दिवंगत पत्रकार की पत्नी कांता माहौर को जीविकोपार्जन के लिए २० लाख की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है, जिसका सेन्ट्रल बैंक ऑफ इण्डिया कैंट रोड शाखा लखनऊ से जारी बैंक ड्राफ्ट संख्या-०७५१७८  अंकन राशि २० लाख रूपये को संलग्र कर प्रेषित करते हुए डीएम को निदेश किया है कि उक्त राशि का भुगतान आश्रित पत्नी को कराते हुए उनसे भुगतान संबंधित स्टैम्पयुक्त रसीद प्राप्त कर शासन से यथाशीघ्र उपलब्ध कराने को कहा है। विदित रहे कि उप्र मान्यता संवाद समिति अध्यक्ष हेमंत तिवारी व ब्रज प्रेस क्लब अध्यक्ष कमलकांत उपमन्यु एडवोकेट की पहल पर ही शासन से दिवंगत पत्रकार के परिजनों को आर्थिक सहायता प्रदान की गई है।  

Read More

कोरोना विशेष

मथुरा। कोविड शव को ले जा रही एम्बूलेंस का चालक अचानक बेहोश हो गया। हालांकि किसी तरह की कोई दुर्घटना नहीं हुई। स्थानीय लोगों ने चालक को एम्बूलेंस से निकाला। घटना की सूचना अधिकारियों को दी। 

Read More

हमारी बात

गाँधी जी को जानने के लिए आपको पढ़ना होगा और उन स्थानों पर जाना होगा जहाँ गांधीजी का सफर रहा है. सभी के अपने अपने मत है..समाज में अच्छाई से लेकर बुराई तक उनके बारे में भरी पड़ी है.

Read More

Bollywood

दर्शन