Editor's Picks

Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image
Owl Image

BREAKING NEWS

CORONAVIRUS IN INDIA : बीते 24 घंटों में 49,931 मामले, संक्रमित मरीजों का आकड़ा 14 लाख के पार पहुंचा || सच्चाई छिपाना 'देशद्रोह' और उसे बाहर लाना 'देशभक्ति' है: राहुल गांधी || 29 जुलाई को अंबाला पहुंचेंगे राफेल फाइटर जेट, फ्रांस से भरी उड़ान

साउथैम्पटन । अनुभवी तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने कहा है कि वह वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में अंतिम-11 में न चुने जाने के कारण निराश, गुस्सा और अत्यधिक दुखी हैं। ब्रॉड ने स्काई स्पोटर्स से कहा, "मैच से एक दिन पहले शाम छह बजे मुझे पता चला कि हम इस स्थिति में अतिरिक्त तेज गेंदबाज के साथ जाएंगे। मैंने एड स्मिथ से पिछली रात बात की थी।

Read More

ब्यूनस आयर्स। बोलीविया और इक्वाडोर के खिलाफ होने वाले फीफा विश्व कप 2022 क्वालीफायर मुकाबलों के लिए दिग्गज फुटबॉल खिलाड़ी लियोनेल मेसी को अर्जेंटीना की राष्ट्रीय टीम में शामिल किया गया है। समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक 23 सदस्यीय टीम में 32 साल के मेसी के अलावा मैनचेस्टर सिटी के लिए खेलने वाले सर्गियो एग्वेरो, जुवेंतस के फॉरवर्ड पाउलो डायबाला और इंटर मिलान के लाउटारो मार्टिनेज को भी जगह मिली है। अर्जेंटीनी टीम को इक्वाडोर के खिलाफ ब्यूनस आयर्स में 26 मार्च और ला पाज में पांच दिनों बाद बोलीविया से साउथ अफ्रीका जोन क्वालीफाइंग टूर्नामेंट के तहत भिडऩा है। मेसी अभी सस्पेंडेड हैं और इसी कारण वे इक्वाडोर के खिलाफ नहीं खेल सकेंगे। मुख्य कोच लियोनेल स्कैलोनी ने कोरोनावायरस के बढ़ते दुष्प्रभाव के बावजूद इस टीम में पांच ऐसे खिलाडिय़ों को शामिल किया है, जिनका संबंध इटली से है और जहां कोरोनावायस काफी विकराल रूप ले चुका है। इटली में कोरोनावायरस के बढ़ते खतरे के कारण सेरी ए मुकाबले 3 अप्रैल तक स्थगित कर दिए गए हैं।  साभार-khaskhabar.com

Read More

मेलबोर्न। अपराजित और बेखौफ खेल रहीं भारतीय महिला क्रिकेट टीम पहली बार आईसीसी महिला टी20 विश्व कप का खिताब जीतने का लक्ष्य लेकर रविवार को यहां मेलबोर्न क्रिकेट ग्राउंड पर मौजूदा चैंपियन ऑस्ट्रेलिया से भिड़ेगी। मुकाबला दोपहर 12.30 बजे से शुरू होगा। प्रसिद्ध पॉप गायक कैटी पेरी फाइनल से पूर्व यहां मेलबोर्न क्रिकेट ग्राउंड पर करीब 75000 से अधिक प्रशंसकों का मनोरंजन करने के लिए तैयार है। भारतीय महिला क्रिकेट टीम पहली बार टी20 विश्व कप टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची है और खिताब के लिए उसका सामना एक ऐसी टीम से होने जा रहा है जो चार बार चैंपियन रह चुकी है और साथ ही 2009 में सेमीफाइनलिस्ट और 2016 में उपविजेता भी रह चुकी है। भारतीय टीम इससे पहले तक अब तक तीन बार 2009, 2010 और 2018 में सेमीफाइनल में पहुंची थी। वल्र्ड नंबर-1 ऑस्ट्रेलिया ने विश्व रैंकिंग में चौथे नंबर पर काबिज भारतीय टीम से 31 मैचों में 26 मैच जीते हैं। हाल के समय में भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अच्छी शुरुआत की है और उसने टी20 विश्व कप 2020 संस्करण के पहले मैच में ही ऑस्ट्रेलिया को 17 रनों से मात दी थी। फाइनल में टॉस महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। भारत को ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ एक मुश्किल लक्ष्य निर्धारित करना होगा। टूर्नामेंट में भारतीय युवा खिलाड़ी बहुत अच्छी स्थिति में हैं, लेकिन सीनियर्स में कप्तान हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना को बड़ी जिम्मेदारी लेनी होगी। कप्तान हरमनप्रीत आज 31 साल की हो गईं और वे निश्चित रूप से अपने 31वें जन्मदिन को यादगार बनाना चाहेंगी। भारत के लिए पावर प्ले एक मिश्रित बैग रहा है। केवल एक बार भारत 50 रन की बाधा पार करने में सफल रहा है। मेलबोर्न में तीन दिनों के ब्रेक और परिवार के सदस्यों की उपस्थिति विशेष रूप से जेमिमाह रोड्रिगेज, शेफाली वर्मा और हरमनप्रीत के लिए मनोबल बढ़ाने वाली है। दूसरी ओर, ऑस्ट्रेलियाई टीम गेंदबाजी आक्रमण में बहुत सटीक है। एलीस पेरी मैच से बाहर हैं लेकिन मेगन शट्ट, पूनम यादव के साथ नौ विकेट के साथ तालिका में शीर्ष पर हैं, जिसमें भारतीय टीम के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को पछाडऩे की क्षमता है। इसके अलावा जेस जोनासेन अतिरिक्त खतरा पैदा करेंगी। बेथ मूनी अपने करियर की बेस्ट फॉर्म में हैं और एलिसा हीली के साथ संयुक्त रूप से बल्लेबाजी विभाग में तीसरे स्थान पर हैं। हरमनप्रीत की कप्तानी वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम 2009 के वनडे विश्व कप से प्रेरणा ले सकती है जब विकेटकीपर अनघा देशपांडे ने सात चौके जडक़र पहली बार ऑस्ट्रेलियाई मानसिकता को हिला दिया था। उस मैच में अंजुम चोपड़ा ने 76 रनों की पारी खेलकर टीम को 16 रनों से मैच जिताने में अहम योगदान दिया था। हालांकि, ऑस्ट्रेलियाई टीम बड़े मैच के दबाव से निपटने में काफी माहिर है। लेकिन भारत भी पहले मैच की जीत से आत्मविश्वास से लबरेज होगा। भारत : हरमनप्रीत कौर (कप्तान), तानिया भाटिया, हर्लिन देयोल, राजेश्वरी गायाकवाड़, ऋचा घोष, वेदा कृष्णामूर्ति, स्मृति मंधाना, शिखा पांडे, पूनम यादव, अरुंधती रेड्डी, जेम्मिहा रोड्रिगेज, शेफाली वर्मा, दीप्ति शर्मा, पूजा वास्त्राकर, राधा यादव। ऑस्ट्रेलिया : मेग लेनिंग (कप्तान), रचेल हायेनेस, इरिन बनर््स, निकोला कैरी, एश्ले गार्डनर, एलिसा हिली, जेस जोनासन, डेलिसा किममिंसे, सोफी मोलिनेयुक्स, बेथ मूनी, मेगन शट, मोली स्ट्रानो, एनाबेल सदरलैंड, जॉर्जिया वारेहैम, मॉली स्ट्रानो।  साभार-khaskhabar.com

Read More

सिडनी। मौजूदा चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने गुरुवार को यहां सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेले गए वर्षाबाधित दूसरे सेमीफाइनल मैच में दक्षिण अफ्रीका को डकवर्थ लुइस नियम के तहत पांच रन से हराकर आईसीसी महिला टी20 विश्व के फाइनल में जगह बना ली है। आठ मार्च को होने वाले फाइनल में ऑस्ट्रेलिया का सामना भारत से होगा। दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट पर 134 रन के स्कोर पर रोक दिया। इसके बाद मैच में बारिश आ गई और फिर मैच को 13 ओवरों का कर दिया गया। दक्षिण अफ्रीका को मैच जीतने के लिए 13 ओवर में 98 रन का संशोधित लक्ष्य दिया गया। लेकिन टीम 13 ओवर में पांच विकेट पर 92 रन ही बना सकी और उसे पांच रन से करीबी हार का सामना करना पड़ा। दक्षिण अफ्रीका की ओर से लॉरा वोल्र्वाडट ने 27 गेंदों पर तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से सर्वाधिक 41 रनों की पारी खेली। उनके अलावा कप्तान डेन वान निकर्क ने 12 और लिजेले ली ने 10 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया के लिए मेशन शट ने दो और जेस जोनासन, सोफी मोलीन्यूक्स तथा डेलिसा किमेंसे ने एक-एक विकेट झटका। इससे पहले, ऑस्ट्रेलिया ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट पर 134 रन का स्कोर बनाया। मेजबान टीम के लिए कप्तान मेग लेनिंग ने 49 गेंदों पर चार चौकों और एक छक्के की मदद से सर्वाधिक नाबाद 49 रनों की पारी खेली। उनके अलावा बेथ मूनी ने 24 गेंदों पर चार चौकों के सहारे 28, एलिसा हैली ने 18, राइकल हैन्स ने 17 और निकोला कैरी ने नाबाद 17 रन बनाए। दक्षिण अफ्रीका की ओर से नेडिने डी क्लर्क ने तीन और अयोबोंगा खाका तथा नोंनकुलुको मलाबा ने एक-एक विकेट लिया। फाइनल में ऑस्ट्रेलिया की भिड़ंत भारत से होगी। भारत ने पहली बार फाइनल में कदम रखा है। भारत और इंग्लैंड के बीच पहला सेमीफाइनल मैच बारिश के कारण रद्द हो गया। भारतीय टीम ने ग्रुप-ए का अंत पहले स्थान के साथ किया था और इसी कारण वह फाइनल में जाने की हकदार थी। इस विश्व कप में सेमीफाइनल रद्द होने के बाद रिजर्व डे का प्रावधान नहीं है, इसलिए ग्रुप स्तर के परिणामों के ध्यान में रखते हुए फाइनल में जाने वाली टीम का ऐलान किया गया।    साभार-khaskhabar.com  

Read More

चित्तोरिया बने नेटबॉल एसोसिएशन के जिला सचिव

Read More

400 मीटर में नरेन्द्र सबसे तेज दौडा

Read More

आरर्केडियन फिर बना जिला क्रिकेट लीग चैंपियन  

Read More

दुबई। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और उप-कप्तान रोहित शर्मा ने आईसीसी की जारी ताजा वनडे रैंकिंग में अपना दबदबा कायम रखा है। वहीं गेंदबाजों में जसप्रीत बुमराह की बादशाहत भी कायम है। भारत ने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया को तीन मैचों की वनडे सीरीज में 2-1 से हराया है। कोहली 886 अंकों के साथ बल्लेबाजों की रैंकिंग में पहले स्थान पर हैं। रोहित ने बेंगलुरू में 119 रनों की पारी खेली और इस पारी ने उनको अंकों की संख्या 868 कर दी है। रोहित दूसरे स्थान पर हैं। पाकिस्तान के बाबर आजम 829 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर हैं। चोट से वापसी करने वाले शिखर धवन ने भी सीरीज में बेहतरीन बल्लेबाजी कर 15वां स्थान हासिल किया है। वे सात स्थान आगे बढ़े हैं। ऑस्ट्रेलिया के स्टीवन स्मिथ ने 23वें स्थान पर कब्जा किया है तो वहीं सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर एक स्थान आगे बढ़ते हुए छठे स्थान पर आ गए हैं। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान आरोन फिंच एक स्थान नीचे 10वें स्थान पर आ गए हैं। गेंदबाजों की बात की जाए तो बुमराह 764 अंकों के साथ पहले स्थान पर कायम हैं। उनके बाद न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट हैं। तीसरे स्थान पर अफगानिस्तान के मुजीब उर रहमान कब्जा जमाए हुए हैं। हरफनमौला खिलाड़ी रवींद्र जडेजा गेंदबाजों की रैंकिंग में अब 27वें स्थान पर पहुंच गए हैं।      साभार-khaskhabar.com  

Read More

सेंट जोंस (एंटीगा)। वेस्टइंडीज ने ट्रेवर पैनी को दो साल के लिए अपनी क्रिकेट टीम का सहायक कोच नियुक्त किया है। वे हालांकि सिर्फ वनडे और टी20 में ही टीम के साथ रहेंगे। 51 साल का यह खिलाड़ी दो जनवरी से टीम के साथ जुड़ेगा और आयरलैंड के खिलाफ होने वाली सीरीज के लिए टीम की मदद करेगा। दोनों टीमों को 7 से 19 जनवरी के बीच तीन वनडे और तीन टी20 मैचों की सीरीज खेलनी है। पैनी ने कहा कि मैं इस बात से बेहद खुश हूं कि मुझे बेहतरीन खिलाडिय़ों और किरोन पोलार्ड तथा फिल सिमंस के साथ काम करने का मौका दिया गया है। मैंने बीते कुछ वर्षों में कुछ अच्छी टीमों के साथ काम किया है और कैरेबियन मेरे लिए घर की तरह है क्योंकि मैं काफी हद तक कैरेबियन प्रीमियर लीग (सीपीएल) से जुड़ा रहा हूं। उन्होंने कहा कि हमारे सामने दो टी20 विश्व कप हैं (ऑस्ट्रेलिया में 2020 और भारत में 2021) और मेरी कोशिश रहेगी कि मैं हर किसी को सुधार करने में मदद कर सकूं और इतना बेहतर कर सकूं कि हम आईसीसी के दो बड़े टूर्नामेंट जीत सकें। पैनी कई टीमों के साथ काम कर चुके हैं। वे श्रीलंका के मुख्य कोच, भारत के फील्डिंग कोच और नीदरलैंड्स के सलाहकार रह चुके हैं। वे इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में किंग्स इलेवन पंजाब, डेक्कन चार्जर्स, कोलकाता नाइट राइडर्स के सहायक कोच भी रह चुके हैं।      साभार-khaskhabar.com

Read More

पूजा तोमर ने जीता लगातार पांचवां गोल्ड मैडल

Read More

लाहौर। पाकिस्तान के दाएं हाथ के पूर्व लेग स्पिनर दानिश कनेरिया ने कहा है कि पाकिस्तान के हुक्मरानों और यहां के क्रिकेट बोर्ड ने उन खिलाडिय़ों का साथ दिया है और दिल खोलकर स्वागत किया है, जिन्होंने चंद पैसों के लिए पाकिस्तान को बेचने जैसा जघन्य अपराध किया है। कनेरिया ने रविवार को एक यूट्यूब वीडियो जारी किया, जिसमें उन्होंने कहा कि जो लोग यह कह रहे हैं कि मैंने यह सब अपने चैनल के लिए सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए किया है, उन्हें बता दूं कि इस बात की शुरुआत मैंने नहीं की बल्कि शोएब अख्तर ने नेशनल टेलीविजन पर इसका पहली बार जिक्र किया था। किसी का नाम लिए बगैर कनेरिया ने कहा कि कई खिलाड़ी ऐसे हुए हैं, जिन्होंने मैच फिक्स किए और देश को बेच दिया लेकिन इसके बावजूद आज वे टीम में हैं और देश के लिए खेल रहे हैं। कनेरिया ने कहा, लोग कह रहे हैं कि मैं पाकिस्तान के लिए 10 साल खेला लेकिन मैं 10 साल अपनी खून की कीमत पर खेला। मैंने क्रिकेट पिच पर अपना खून दिया। मैंने तब भी गेंदबाजी जारी रखी, जब मेरी अंगुलियों से खून निकलता रहता था। यहां तो कुछ लोग ऐसे हैं, जिन्होंने अपने देश को ही बेच दिया और आज वे टीम में खेल रहे हैं। मैंने पैसे के लिए कभी अपने देश को नहीं बेचा। इससे पहले पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने साफ किया है कि कनेरिया के सम्बंध में दिए गए उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है। अख्तर के मुताबिक उन्होंने यह कभी नहीं कहा कि हिंदु होने के नाते पाकिस्तानी टीम में कनेरिया के साथ गलत व्यवहार होता था। अख्तर ने कहा कि पाकिस्तानी टीम में कभी भी इस तरह की संस्कृति नहीं रही है और खासतौर पर धर्म के आधार पर कभी भी किसी खिलाड़ी के साथ भेदभाव नहीं किया गया। शनिवार को पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने भी कहा कि कनेरिया उनकी कप्तानी में खेले और इस दौरान उनके साथ किसी भी तरह के गलत व्यवहार की उन्हें कोई जानकारी नहीं।  साभार-khaskhabar.com

Read More

कोरोना विशेष

कोरोना को कमजोर करना है तो मौसमी बीमारियों से बचना जरूरी

Read More

हमारी बात

नौजवान पीढ़ी को यह जानना जरूरी है कि देश सेवा और समाज सेवा की कोई कीमत नहीं होती। जिन देशभक्तों ने इस उक्ति को सच साबित किया उनमें फिरोजाबाद के स्व. रतन लाल बंसल का नाम प्रमुखता से लिया जा सकता है।

Read More

Bollywood

दर्शन